इस पोस्ट में हम आप सभी के लिए सावन का कजरी गीत विद लिरिक्स और साथ-साथ कजरी गीत का इतिहास आपको बताएगे और कजरी लोकगीत के वीडियोस शेयर करेगे / आप सभी सुने और उस को अधिक से अधिक लोगों में शेयर करें
 
 
सावन का कजरी गीत विद लिरिक्स-kajari geet

कजरी गीत का इतिहास-

कजरी गीत उत्तर प्रदेश और बिहार का प्रसिद्ध लोक गीत है इसकी उत्पत्ति मिर्जापुर पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार से माना गया है लोकगीत कजरी कब गाया जाता है तो कजरी गीत को सावन के महीने में गाया जाता है

 कजरी गीत में प्रसिद्ध तौर पर विरह  का वर्णन और राधा कृष्ण की लीलाओं का वर्णन मिलता है कजरी गीत में अलंकार और रस की प्रधानता होती है और उसके साथ-साथ यह ब्रज क्षेत्र में भी बहुत ज्यादा प्रचलित है

 और सच में अगर देखा जाए तो यह सारी चीजें अब धीरे-धीरे लुप्त होती नजर आ रही हैं क्योंकि लोग आधुनिक होते जा रहे हैं लेकिन अभी भी जब सावन का मौसम आता है तो फिर सभी को सावन के कजरी गीत की याद आ जाती है और सभी उस गीत को गिन गुनगुनाने लगते हैं

 वृंदावन और ब्रज क्षेत्र में पूरे सावन कजरी गीत बहुत ही धूमधाम से गाया जाता है और राधा कृष्ण को सावन के मास में झूला भी झूलाया जाता है

यह गांव की कजरी गीत बहुत ही प्यारा है इस मिर्जापुर कजरी गीत को हमने पिता के आग्रह पर उनको सुनाया था जो किया आज अब वह दुनिया में नहीं है तो आप सभी उस गीत को भी सुनिए गा 
 

 कजरी गीत इन हिंदी lyrics-

अरे रामा बीता जाए सावन वा ना आए बिरान वा रे हारी…2

अरे रामा बीता जाए सावन वा ना आए बिरान वा रे हारी…2

1)  भाई भतीज शखिन सुधी आई नयनन  नीर बहावी रामा 

नयनन  नीर बहावी रामा …2

आरे रामा सखियां से होता मिलन वा ना आए बिरान वा रे हारी..

अरे रामा बीता जाए सावन वा ना आए बिरान वा रे हारी….

2) भैया हमारी सुध  विसरावई  भौजी कशरी पुरानी रामा 

भौजी कशरी पुरानी रामा ….2

आरे रामा भौजी दीहिन गवानवा  ना आए बिरान वा रे हारी..

अरे रामा बीता जाए सावन वा ना आए बिरान वा रे हारी…

 3)  देख रहा सांझे और ताड़के कोटे बिरन चटके रामा 

कोटे बिरन चटके रामा ….2

आरे रामा ननंदी बोले हनवा ना आए बिरान वा रे हारी..

अरे रामा बीता जाए सावन वा ना आए बिरान वा रे हारी..

 4)  हे बलराम खबर पहुंचवा शुबह तू हीर मनाई रामा 

शुबह तू हीर मनाई रामा ….2

अरे रामा  सब से होत मिलन वा ना आए बिरान वा रे हारी…2

अरे रामा बीता जाए सावन वा ना आए बिरान वा रे हारी…2

इसे भी पढ़ें👉बेटी विवाह गीत – बन्नी गीत with lyrics 

सुनने के लिए
 
 नीचे क्लिक करें 👇 
Kajri Song lyrics–

 Are Rama Bita Jaaye Savan va Na Aaye biran wa Hari…2

 Are Rama Bita Jaaye Savan va Na Aaye biran wa Hari….2

1) bhai bhatij shakhin Sudhi aai nayanan Neer bahavi Rama

nayanan Neer bahavi Rama…..2

Are Rama sakhiyaan se hota Milan Wa Na Aaye biranwa re Hari

Are Rama Bita Jaaye Savan va Na Aaye biran wa Hari…2

2) bhaiya Hamari Shuddh Vishraya Bhauji kashari purani Rama

Bhauji kashari purani Rama……2

Are Rama dihin gawanva na aaye biranwa re haari 

Are Rama Bita Jaaye Savan va Na Aaye biran wa Hari…2

3) Dekhun Raha Sanjh aur Tadke Kothe biran Chatke  rama

Kothe biran Chatke  rama……2

Are Rama Nandi Bole Hanwa Na Aaye biranwa Re Hari

Are Rama Bita Jaaye Savan va Na Aaye biran wa Hari…..2

4) hey Balram khabar pahunchawa Shubh Tu Heer Manai Rama

Shubh Tu Heer Manai Rama……2

Arey Rama sab se hota Milanwa na aaye biranwa re haari

Are Rama Bita Jaaye Savan va Na Aaye biran wa Hari….2

Are Rama Bita Jaaye Savan va Na Aaye biran wa Hari….2

धार्मिक कजरी गीत लिरिक्स

 

 बेटा सरवन छिपे हो कहां जाए के बनवा में आई के  ना… 


 बेटा सरवन छिपे हो कहां जाए के बनवा में आई के  ना ..

 

1) बेटा सरवण जल्दी से लाना पानी हमको पीलाना -2

 

नहीं तो जाती है जान तड़पाय  के बनवा में आई के न -2

 

बेटा सरवन छिपे हो कहां जाए के बनवा में आई के ना….

 

2) गए सरजू के तीर लाल भरने को नीर –2

 

नहीं लौटे कमंडल डुबाय के  बनवा में आई के ना –2

बेटा सरवन छिपे हो कहां जाए के बनवा में आई के ना…
 

 3)इधर मृगो  को जान मारा दशरथ ने बाण–2

 

 सरवण गिरे मुरझाए के बनवा में आई के ना–2

 

बेटा सरवन छिपे हो कहां जाए के बनवा में आई के ना…

 

 

 4) राम राम की आवाज सुन के बदला मिजाज–2

 

दशरथ तुरंत गए वहां धाई  के बनवा में आई के ना –2

 

बेटा सरवन छिपे हो कहां जाए के बनवाने आए के ना…

 

5) कहे  सरवन  तिखार माता पिता हमारे–2

 

 बड़े प्यार से पानी दो लई जाई के  बनवा में आई के ना –2

 

बेटा सरवन छिपे हो कहां जाए के बनवाने आए के ना….

 

6) अंधी अंधा के पास गए हो के निराश –2

 

काहे अपना कसूर समझाए के बनवा में आई के ना–2

बेटा सरवन छिपे हो कहां जाए के बनवा में आई के  ना..

 बेटा सरवन छिपे हो कहां जाए के बनवा में आई के  ना ….

 
 

इसे भी पढ़ें👉चटपटा माता की कहानी

 इसे भी पढ़ें👉16 सोमवार व्रत कहानी

 इसे भी पढ़ें👉सोमवार व्रत कथा

  हमारे कुछ popular post 👇

 
 इसे भी पढ़ें👉हवन गीत with lyrics hindi
  इसे भी पढ़ें👉देवी पचरा गीत
हमारे और भजन सुनने के लिए तारा तिवारी भजन पर क्लिक करें👇

Leave a Reply