2023 संपदा माता की पूजा कैसे करें

आज हम आपको बताएंगे कि संपदा माता की पूजा कैसे करें और सीखेगे संपदा मैया की पूजा विधि  के बारे मे जानेगे

संपदा माता की कथा हमने आपको पिछले पोस्ट में दिया था अगर आप को नहीं पता है क्या लगेगी तो आप उसी पर क्लिक करके उस पोस्ट को पढ़ सकते है

नमस्कार मित्रों मैं तारा तिवारी आप सभी का इस अपने नए पोस्ट में स्वागत करती हूं

sampda-mata-pooja-aur-samagri
संपदा माता की पूजा कैसे करें

संपदा माता की पूजा करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. स्थान निर्धारण करें: पूजा के लिए एक शांत और साफ स्थान चुनें, जहां आप पूजा करने के लिए आराम से बैठ सकें.
  2. शुद्धि करें: नियमित स्नान करें और पवित्रता के लिए वस्त्र धारण करें.
  3. पूजा सामग्री की तैयारी: संपदा माता की पूजा के लिए निम्नलिखित सामग्री की तैयारी करें:
  • देवी की मूर्ति या छवि
  • सुपारी, कच्चा सौंफ, लाल रंग की चूड़ियाँ, सिंदूर, अगरबत्ती, दीपक और घी
  • फूल, लौंग, इलायची, गंध और पुष्प
  • पूजा की थाली, कलश और अचमनीय पात्र
  1. पूजा का विधान: पूजा के लिए निम्नलिखित विधान का पालन करें:
  • शुरुआत में गणेश जी की पूजा करें और उनसे आशीर्वाद लें.
  • अपने मन में संपदा माता को आराधना करें और उनकी कृपा की प्रार्थना करें.
  • मूर्ति या छवि को सुंदरता से सजाएं और पुष्प चढ़ाएं.
  • चौथा या पंचमृत अर्पित करें: घी, दही, श

क्कर, ताजा फल और शहद को मिश्रण बनाएं और मूर्ति को अर्पित करें.

  • अगरबत्ती और दीप जलाएं और आरती करें.
  • पूजा के बाद प्रसाद को बांटें और सभी भक्तों को दें.
  1. ध्यान और मन्त्र जप: पूजा के दौरान ध्यान रखें और संपदा माता के मन्त्रों का जाप करें, जैसे “ॐ ऐं सर्वकामेश्वरी संपदां देहि देहि स्वाहा।”

याद रखें कि ये सिर्फ एक आम संपदा माता की पूजा करने का विधान है, और यह प्रत्येक व्यक्ति के आचार्य और पाठशालाओं के अनुसार थोड़ा अलग हो सकता है। आप इसको अपनी आवश्यकताओं और परंपरा के अनुसार समायोजित कर सकते हैं।

संपदा माता की पूजा सामग्री-

संपदा माता की पूजा के लिए आप निम्नलिखित सामग्री का उपयोग कर सकते हैं। पूजा करने से पहले, सामग्री को ध्यान से साफ़ करें और पवित्रता बनाए रखने के लिए अपने मन और हृदय को शुद्ध करें।

इसे भी पढ़ें👉 संपदा माता की कथा 

  1. पूजा थाली: एक पूजा थाली जिसमें कुमकुम, अच्छा, रोली, दीपक, घी, धूप, अगरबत्ती, कलश आदि रख सकते हैं।
  2. मूर्ति: संपदा माता की मूर्ति या तस्वीर। यदि मूर्ति उपलब्ध नहीं है, तो तस्वीर या चित्र भी उपयुक्त होता है।
  3. फूल: फूलों का माला या पुष्पांजलि के रूप में फूल।
  4. आकार: चावल, गेहूँ, जौ, मूंगफली, घी, मिश्री, गुड़, और बताशे आदि आकार।
  5. पानी: पवित्र जल या गंगाजल की शीशी।
  6. ज्ञाना: आरती की थाली, दीपक, घी, और बत्ती।
  7. वस्त्र: संपदा माता के सामने पुष्पित वस्त्र रखें।
  8. मिठाई: पूजा के अंत में प्रसाद के रूप में मिठाई रखें।

इन सामग्री को सावधानीपूर्वक एकत्र करके, पूजा के समय संपदा माता की ध्यान में मन और हृदय से पूजा करें। आप इस पूजा को अपने आराध्य के ध्यान, भक्ति, और समर्पण के साथ कर सकते हैं। यह आपके और आपके परिवार के जीवन में समृद्धि, सुख, और शुभकामनाएं लाएगी।

संपदा माता की कथा-

संपदा माता की कथा निम्नलिखित है:

कथा में बताया जाता है कि बहुत समय पहले एक संपदा माता नामक एक देवी धरती पर अवतरित हुई। वह देवी सभी धन और सम्पत्ति की संचय करने की सामर्थ्य रखती थीं और मानवों को उन्नति और वृद्धि में मदद करने का कार्य संपादित करती थीं।

कथा के अनुसार, एक समय में भारत के एक गांव में एक गरीब लड़का नामक युवक रहता था। वह बहुत मेहनती और ईमानदार था, लेकिन उसकी आर्थिक स्थिति बहुत कमजोर थी। वह रोजगार ढूंढ़ने के लिए यात्रा पर निकल पड़ा।

युवक ने अपनी यात्रा के दौरान एक मंदिर में पूजा करने का निर्णय लिया। वह पूजा करने के बाद माता के सामने अपनी समस्या को साझा करने बैठा और माता से कहा कि वह एक सम्पन्न जीवन की कामना करता है।

संपदा माता ने युवक की ईमानदारी और प्रयासों को देखकर उसे आशीर्वाद दिया। उन्होंने युवक को एक मंगल कार्य में संलग्न होने की सलाह दी और कहा कि यदि वह नियमित रूप से पूजा और ध्यान करेगा, तो वह सभी संपत्तियों का आनंद उठा सकेगा।

युवक ने माता की सलाह मानी और उसने मंगल कार्य में संलग्न होने का निर्णय लिया। उसने नियमित रूप से संपदा माता की पूजा की और ध्यान करना शुरू किया।

समय बीतते ही, युवक की स्थिति में सुधार होने लगा। उसकी मेहनत और संघर्ष ने उसे धन, सम्पत्ति और सफलता के नए स्तरों तक पहुंचा दिया। उसकी आर्थिक समस्याएं समाप्त हो गईं और वह एक धनवान और समृद्ध जीवन जीने लगा।

इस कथा के माध्यम से, संपदा माता की पूजा और आराधना का महत्व बताया जाता है। यह धन, सम्पत्ति और उन्नति की प्राप्ति में मदद करने के लिए पूजा की जाती है और आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए धनवानता की कामना की जाती है।

तो सखियों कुछ इस तरह से संपदा माता की पूजा की जाती है अगर आपको इसमें कुछ संदेह है तो आप कमेंट करके हमसे पूछ सकते हैं

हमारे कुछ Related Posts 👇

इसे भी पढ़ें👉संपदा माता की पूजा कैसे करें

इसे भी पढ़ें👉 संपदा माता की कथा 

इसे भी पढ़ें👉संपदा माता की कहानी

संपदा माता की कथा

इसे भी पढ़ें👉 कजरी तीज सम्पूर्ण जानकारी 

 मारे कुछ Popular Post 👇

इसे भी पढ़ें👉अवसान माता  की पूजा कैसे करें 

इसे भी पढ़ें👉अवसान माता की पूजा सामग्री

इसे भी पढ़ें👉संकटा माता पूजा विधि और सामग्री 

 इसे भी पढ़ें👉 संकटा माता कहानी इन हिन्दी 

 इसे भी पढ़ें👉Top 5 अवसान माता की कहानी

इसे भी पढ़ें👉संपदा माता की पूजा कैसे करें

इसे भी पढ़ें👉 संपदा माता की कथा 

इसे भी पढ़ें👉चटपटा माता की पूजा सामग्री

इसे भी पढ़ें👉Best 3 चटपटा माता का गीत लीरिक्स 

इसे भी पढ़ें👉चटपटा माता की कहानी

इसे भी पढ़ें👉चटपट माता की आरती lyrics 

 इसे भी पढ़ें👉तुरंता माता पूजा विधि और सामग्री 

 इसे भी पढ़ें👉तुरंता माता कहानी इन LYRICS

इसे भी पढ़ें👉दुरदुरिया पूजा कैसे करें

 इसे भी पढ़ें👉 दुरदुरिया की कहानी 

. इसे भी पढ़ें👉 दुरदुरिया गीत with  Lyrics 

हमारे भजन  you tube पर सुनने के लिए तारा तिवारी भजन पर क्लिक करें👇

 तारा तिवारी भजन 

Leave a Comment