2023 संकटा माता की कहानी इन हिंदी(भाई-बहन)||Sankata Maiya ki Aarti

नमस्कार शाखियों आज हम आप सभी के लिए सुंदर सी संकटा माता की कहानी आप सभी के लिए लेकर आए है इससे पहले हमने आपको बताया है कि संकटा माता की पूजा कैसे की जाती है और संकटा माता की कथा विधि और संकटा माता की पूजा में लगने वाली सभी सामग्री का वर्णन हमने किया है अगर आप सभी ने उस पोस्ट को नहीं पढ़ा है तो क्लिक करके इस पोस्ट को पढ़ें और अधिक से अधिक लोगों में शेयर जरूर करें ताकि और सभी को भी यह जानकारी पता चाहिए चल सके

संकटा माता की कहानी  इन हिंदी ( भाई-बहन ) Sankata Maiya kahani  संकटा माता की व्रत कथा  संकटा माता की पूजा कैसे की जाती है  संकटा माता की पूजा सामग्री
संकटा माता की कहानी  इन हिंदी ( भाई-बहन ) || Sankata Maiya kahani

 

 तो चलिए हम आते हैं अपनी कहानी पर यह जो संकटा माता का किस्सा है भाई और बहन की है संकटा माता की कहानी को संकटा माता की कथा के नाम से जानते हैं लेकिन संकटा माता की व्रत कथा अलग है वह हमने पिछले पोस्ट में आपको दिया पढ़ना है तो क्लिक करके आप पढ़ सकते हैं तो हम आते हैं कहानी पर 

संकटा मैया की कहानी इन हिंदी–

 एक गांव में एक भाई और बहन रहते थे और लड़कपन मे ही उनके माता-पिता का स्वर्गवास हो चुका था जो भाई था वह बड़ा था और बहन छोटी थी  बड़े भाई पर बहन की सारी जिम्मेदारी थी किसी तरह से जीवन चलता रहा और देखते-देखते बहन की बड़ी हो गई।

 

फिर भाई को लगा कि अब उसको कमाने के लिए बाहर जाना चाहिए क्योंकि अब बहन बड़ी हो रही है तो उसका विवाह शादी भी करनी है और उसमें धन दौलत भी लगेगा तो इसके लिए मुझे बाहर निकलना ही पड़ेगा तो भाई बाहर कमाने जाने के लिए बहन से कहता है तो बहन उस बात को स्वीकार करती है

 

तब भाई कहता है मेरी यह पाली हुई चिड़िया की देखभाल अब तुम करोगी मैं कमाने के लिए बाहर जा हूं  इनको समय समय से चारा पानी देती रहना ताकि इन्हे कोई समस्या ना हो बहन कही ठीक भैया जैसा आप कह रहे हैं वैसे इनकी देखभाल करेंगे आप बिल्कुल तनाव न लें आप निश्चिंत होकर कमाने जाए।

 अब भाई इधर कमाने के लिए शहर में पहुंच जाता है और कई दिनों तक यहां पर वह कमाने में व्यस्त रहता है बहन की शादी के लिए पैसा जोड़ रहा होता है इधर एक दिन बहन किसी काम में उलझ गई और वह चिड़िया को चारा पानी देना भूल गई

 

जब उसे याद आया तो वह भागकर चिड़िया के पास गई तब वहां पर सारी चिड़िया मरी पड़ी थी अब वह रोने लगी आस पास के लोगों से पूछने लगी कि क्या किया जाए कि चिड़िया मेरी सही हो जाए

तो पड़ोसियों ने कहा कि बिटिया यह सब सारी चिड़िया मर गई है अब इनकी सेवा करने से कोई फायदा नहीं है अब यह जिंदा नहीं होंगी

 

यह बात सुनकर बहन और रोने लगी और कुछ समय तक रोती ही रही और सब आस पास के लोग अपने घर चले गए । तब उसी बीच संकटा मैया उसी रास्ते से गुजर रही थी तो उन्होंने एक बच्ची की रोने की आवाज सुनी तब उसके पास जाकर उनकी समस्या जानने का विचार किया तब माँ ने एक बुढ़िया का रूप बनाकर उस बच्ची के पास गई और पूछने लगी कि बेटी आप क्यों रो रही हैं तब बेटी ने अपनी सारी व्यथा बुढ़िया माता को कह सुनाई ।

और मां की चरणों से लग कर बच्ची रोने लगी अब मां को दया आ गई मां ने कहा कि रोओ मत हम जैसा कह रहे हैं वैसा करो अगर आप की चिड़िया फिर से जिंदा हो जाएगी तो संकटा माता की पूजा करवा देना

बच्ची ने कहा हां माता अगर जिंदा हो गई तो हम संकटा माता की पूजा करेंगे तब बुढ़िया मां ने एक लोटा जल मंगवाया और जल को छू ने के बाद बच्ची को दे दिया और कहा कि यह जल सारी चिड़ियों के ऊपर छिड़क दें और अंदर जाकर संकटा माता को प्रणाम करके आए तो बच्चे ने अपने घर में जाकर संकटा माता को प्रणाम किया और जब वह वापस आकर चिड़ियों को देखें तो सारी चिड़िया जिंदा हो चुकी थी

 

और बुढ़िया मां भी गायब हो चुकी थी अब बच्चे की खुशी का ठिकाना नहीं रहा वह बहुत खुश हुई नहीं तो वह भी सोच रही थी भैया क्या कहेंगे एक चिड़िया की देखभाल नहीं कर पाई हम तुम्हारी देखभाल माता पिता के ना होते हुए भी किस तरह से किये । 

 अब कुछ दिन बीतते ही भाई भी कमा कर वापस आ गए उन्होंने अपनी चिड़ियों को देखा तो वह पहले से ज्यादा प्रफुल्लित स्वस्थ नजर आई तो उन्होंने अपनी बहन से पूछा कि बहन इनकी देखभाल आप किस तरह कर रही थी क्या जो हम चारा खिलाते थे वही खिला रही हो या कुछ दूसरा

 तो बहन सकुचाते हुए भाई से कहा कि भाई एक बात कहें अगर आप नाराज ना हो तो भाई ने कहा बहन कहो नाराज क्यों होंगे तो बहन ने अपनी सारी बात बताई भैया एक दिन हम काम में व्यस्त हो गए और चिड़िया को चारा पानी देना भूल गए और सारी चिड़िया मर गई तब एक बूढ़ी माता आई और वह हमको कुछ उपाय बताइ और फिर वह उपाय करने से सारी चिड़िया जिंदा हो गई बूढ़ी मां ने कहा था कि अगर चिड़िया जिंदी हो जाएंगी तो संकटा माता की एक पूजा कर देना

 भैया अब  संकटा माता की पूजा करनी है क्योंकि यह सब संकटा माता के बदौलत ही संभव हो पाया भैया कृपया करके आप संकटा माता की पूजा सामग्री ले आइए और हम संकटा माता की पूजा विधि विधान  से करेंगे और साथ ही साथ सुहागलों की पूजा भी करेंगे

भाई बहन दोनों ने संकटा माता की पूजा पूरे विधि विधान से की और सभी सुहागिनों को भोजन जमाया और विदाई किया

हमारे कुछ Related Posts 👇

इसे भी पढ़ें👉संकटा माता की पूजा कैसे करें 

 इसे भी पढ़ें👉संकटा माता पूजा विधि और सामग्री 

 
 

 

विडिओ देखने के लिए क्लिक करे 👇👇
 

 जिस तरह से संकटा माता ने बहन संकट को दूर किया उसी तरह संकटा माता सभी के संकट को दूर करें

 बोलो संकटा मैया की जय

 संकटा माता की आरती-

संकटा माता की कहानी  इन हिंदी ( भाई-बहन ) Sankata Maiya kahani   संकटा माता की आरती संकटा माता की व्रत कथा  संकटा माता की पूजा कैसे की जाती है  संकटा माता की पूजा सामग्री

हमारे कुछ Popular Post 👇

इसे भी पढ़ें👉अवसान माता  की पूजा कैसे करें 

इसे भी पढ़ें👉संकटा माता पूजा विधि और सामग्री 

 इसे भी पढ़ें👉Top 5 अवसान माता की कहानी

इसे भी पढ़ें👉 संपदा माता की कथा 
 हमारे भजन  you tube पर सुनने के लिए तारा तिवारी भजन पर क्लिक करें👇

Leave a Comment